कारण क्या है कि गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को ही मनाया जाता है?

Republic day image

Hello Fellows,

आप सभी को newsfellow.com की तरफ से गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।  आशा करतें हैं कि यह गणतंत्र दिवस हम सबके  जीवन में सौहार्द और देशप्रेम का भाव लेकर आये।

गणतन्त्र दिवस भारत का एक राष्ट्रीय पर्व है जो हर साल 26 जनवरी को मनाया जाता है। आज के दिन सन 1950 में भारत सरकार अधिनियम 1935 को हटाकर भारत का संविधान लागू किया था। भारत को स्वतंत्र गणराज्य बनाने के लिए और भारत में कानून के राज को स्थापित करने के लिए संविधान को 26 जनवरी 1950 को संविधान सभा द्वारा अपनाया गया।

Dr rajendra prasad

आखिर 26 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है 26 जनवरी? 

1929 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अधिवेशन लाहौर में हुआ जिसकी अध्यक्षता पंडित नेहरु ने की और जिसमे एक प्रस्ताव पारित हुआ की यदि अंग्रेज सरकार भारत को  26 जनवरी 1930 तक dominion का पद प्रदान नहीं करेगी तो भारत स्वयं को स्वतंत्र घोषित कर देगा।

अगर डोमिनियन का पद भारत को मिलता तो इसके तहत भारत ब्रिटिश राज्य की स्वशासित इकाई बन जाता। लेकिन, अंग्रेज सरकार ने ऐसा कुछ नहीं किया जिसके फलस्वरूप भारत में आंदोलनों का दौर शुरू हो गया।  परन्तु उस दिन से 1947 तक यह दिन गणतंत्र दिवस के रूप में ही मनाया जाता रहा।

15 अगस्त 1947 को आज़ाद होने के बाद संविधान सभा का गठन किया गया जिसने 9 दिसंबर 1947 को अपना कार्य शुरू कर दिया।  संविधान सभा की ड्राफ्टिंग समिति के प्रमुख डॉ भीमराव आंबेडकर थे और इस समिति का काम संविधान का निर्माण करना और उसे लिखना था।

पूरे 2 साल 18 महीने और 11 दिन के बाद संविधान प्रारूप समिति ने यह संविधान तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद को 26 नवम्बर 1949 को सौंपा।

अनेक सुधार और बदलाव करने के बाद 308 सदस्यों ने संविधान की Hand written कॉपीज़ पर 24 जनवरी 1950 को दस्तखत किये और इसके 2 दिन के बाद 26 जनवरी 1950 को यह संविधान पूरे देश में लागू हो गया।

Republic day parade

क्या होता है इस दिन?

देश की राजधानी दिल्ली के राजपथ पर परेड की शोभा देखते ही बनती है। अमर जवान ज्योति पर प्रधानमंत्री पुष्पांजलि अर्पित करतें हैं और देश की सेनाओं के तीनो अंग अपनी अपनी शक्ति का प्रदर्शन भी करतें हैं।

भारत के हर राज्य से उसकी एक सांस्कृतिक झांकी की झलक सबका मन मोह लेती है। कार्यक्रम के अवसर पर राष्ट्रीय ध्वज फेहराया जाता है और कार्यक्रम का समापन राष्ट्रीय गान के गायन से होता है।

26 january parade

कौन है इस बार के मुख्यातिथि:

इस बार 2018 में 10 आसियान देशो के प्रमुखों को गणतन्त्र दिवस के मुख्यातिथि के रूप में देखा जायेगा।

इन देशों में इंडोनेशिया, ब्रुनेई लाओस, मलेशिया, कंबोडिया, म्यांमार, सिंगापुर, फिलीपींस, थाइलैंड और वियतनाम शामिल हैं।

दोस्तों! आपको हमारी यह पोस्ट कैसी लगी हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट के माध्यम से या hellonewsfellow@gmail.com पर ईमेल करके अवश्य बताएं।

6 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*