Home > Health > How to identify original or fake Kesar?

How to identify original or fake Kesar?

Kesar_Saffron

Kesar एक महंगा Ingredient है जिसका इस्तेमाल आपके खाने में चार चाँद लगा देता है। केसर हमारे स्वास्थ्य के लिए कैसे लाभदायक है और किस-किस बीमारी में यह उपयोगी है, ये हम अपनी पहली पोस्ट में बता चुकें हैं जानने के लिए यहाँ क्लिक करें  ।

महंगा होने के कारण इसमें मिलावट होने के chances भी बहुत ज्यादा है। इसलिए कुछ मिलावटखोर मक्की के भुट्टे या छल्ली(corn husk) के strands(तंतु) पर केसर का scented color लगाकर बेचतें हैं, कुछ लोग चीन से imported “shredding machines” के जरिये लाल कागज़ को बिलकुल केसर की तरह काटकर लोगों को चूना लगा रहें हैं और वहीँ बहुत से अनैतिक लोग नारियल की छाल का प्रयोग भी नकली केसर बनाने में करतें हैं।

अमेरिकन केसर से बचें:

आजकल मार्किट में अमेरिका की labs में बना हुआ केसर का बीज बहुत प्रचलन में है। इस बीज की खासियत ये है इसे किसी भी मौसम में उगाया जा सकता है। लेकिन केसर जैसी दिखने वाली हर चीज केसर तो नहीं हो सकती न।

जी हाँ!! जहाँ अमेरिकन केसर की Nutrition value 0.23% है वहीँ असली केसर की Nutrition value 15-16 % होती है। आजकल केसर का रंग चढ़ाने के लिए Lead Monoxide का भी इस्तेमाल होता है जिसका रंग बिलकुल केसर के रंग जैसा ही होता है लेकिन आपको बता दें कि Lead, अल्सर और कैंसर जैसी भयानक बिमारियों को निमंत्रण देता है।

 [Input Provided by a renowned Saffron producer  http://www.kingkesariya.co.in/  ]

 

कैसें करें असली केसर की पहचान?

वैसे तो केसर की पहचान करने के बहुत से तरीके हैं लेकिन हम आपको बेहद आसान तरीकों से अवगत करवाएंगे ताकि आप घर पर ही असली या नकली केसर की पहचान कर सकें।

Kesar का स्वाद चखकर

केसर के एक तंतु(strand) को अपनी जीभ पर रखें और हल्का चबाएं। अगर केसर का स्वाद आपको मीठेपन में लगे तो समझ लीजिये की आप नकली केसर का स्वाद चख रहें हैं क्यूंकि असली केसर की पहचान मीठी खुशबू और कड़वे स्वाद द्वारा ही की जा सकती है।

गर्म पानी में डालकर

ह्ल्के गरम पानी में केसर के 2 तंतु (strands) डालिए। अब यदि strand तुरंत अपना रंग छोड़ने लगे तो समझ जाइये की केसर नकली है क्यूंकि असली केसर जब तक उबलता है या पानी में रहता है तो धीरे-2 रंग छोड़ता है।

बेकिंग सोडे का प्रयोग

पानी में थोडा सा बेकिंग सोडा डालकर भी केसर की शुद्दता को check किया जा सकता है। एक कप पानी में थोडा सा बेकिंग सोडा डालें, अच्छे से mix कर लें अब ध्यान दें कि अगर केसर भगवा रंग छोड़ रहा है तो वह नकली है। क्यूंकि केसर के Stigmas का original color भगवा होता है और बेकिंग सोडा के mixture या किसी भी चीज़ में डालने से केसर पीला रंग release करता है।

ठंडे पानी का प्रयोग

इस प्रयोग में आपको क्या करना है कि थोड़ा सा ठंडा पानी(10-15 बूँद) किसी कांच की slab पर डालें और अब इसमें 2-4 strands केसर की डालें। अगर केसर तुरंत अपना रंग छोड़ने लगा है तो वह नकली है  क्यूंकि रंग हमेशा उसी का उतरेगा जिस पर रंग चढ़ा होगा। असली केसर धीरे धीरे अपना पीला रंग छोड़ता है अब अगर केसर असली है तो पानी डालकर इसमें ऊँगली घुमाएं आप देखेंगे कि केसर लगातार अपना रंग छोड़ रहा है और इसकी भीनी-भीनी खुशबू और color अगर 15-20 मिनट तक रहे या हाथ धोने के बाद भी ना जाये तो समझ जायें की केसर असली है।

Quality Certification

आप जहाँ से भी केसर खरीदें कृपया company के निर्धारित मानकों को अच्छे से देख लें। कुछ केसर producer नियमित रूप से केसर की quality को ध्यान में रखते हुए अलग अलग labs से उसकी जांच करवाते रहतें है तो आप भी उनके National और International certification को देखकर ही केसर खरीदें। (Certified Kesar यहाँ से आर्डर कर सकतें हैं: Click here )

दोस्तों, आपको ये हमारी पोस्ट कैसी लगी हमें जरूर बताएं और अगर आपके पास भी केसर की शुद्धता को जानने का कोई और उपाय है तो नीचे कमेंट बॉक्स में अवश्य शेयर करें। और अगली बार आप जब भी केसरयुक्त रस-मलाई, जलेबी या गुलाब जामुन खाएं तो पूछना न भूलें कि केसर कश्मीरी है कागज़ी 🙂

5 thoughts on “How to identify original or fake Kesar?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *