क्या आप कैलाश पर्वत से जुड़े ये Facts जानतें हैं/Amazing facts about Mount Kailash

देवादिदेव महादेव से जुड़ा कैलाश पर्वत उनका निवास स्थान माना जाता है और आश्चर्यचकित कर देने वाली ना जाने कितनी बातें इससे जुड़ी हैं। वैज्ञानिकों ने इस पर्वत से जुडी कुछ बातों  का उल्लेख किया है जिसे आपके समक्ष रखने का प्रयास कर रहा हूँ और भगवान भोलेनाथ को समर्पित सावन के महीने में इसकी चर्चा करना भी सार्थक लगता है।

  1. कैलाश पर्वत की ऊँचाई 6638 मीटर है और माउंट एवरेस्ट की ऊँचाई 8848 मीटर है, कम ऊँचाई होने का बावजूद भी इस पर्वत पर कोई नहीं चढ़ पाया है (कहानियों के अनुसार 11 वीं शताब्दी में एक बौद्ध योगी “मिला रेपा” योग विद्या के बल से सफल हुए थे) यदि किसी ने कोशिश भी की तो रास्ते में ही प्राण गंवाने पड़े अब इसकी चढ़ाई पर रोक लगा दी गयी है। 
  2. कैलाश पर्वत धरती के केंद्र में स्थित है और शक्ति का स्त्रोत भी. अनेक भक्तों द्वारा यहाँ पर तेज़ प्रकाश दिखने की कई खबरें सामने आती रही हैं जिसे वैज्ञानिक एलियंस का लांच पैड कहने में भी नहीं हिचकिचाते।
  3. रूस के वैज्ञानिकों ने अध्ययन कर पाया कि 100 छोटे बड़े पर्वतों से घिरा कैलाश पर्वत उनके केंद्र में स्थित है और यह स्थान दुनिया के अलग अलग स्थानों से सम्पर्क साधने का सेंटर माना जाता रहा है इसे Axis mundi भी कहा जाता है। 
  4. चारों दिशाओं से 4 नदियाँ निकलती हैं जो गंगा की प्रमुख सहायक नदियाँ हैं इन नदियों में ब्रह्मपुत्र, सिन्धु, सतलुज, कर्णाली शामिल हैं ।
  5. एक ही स्थान पर दो झीलें और उनके पानी का taste भी बिलकुल अलग, जी हाँ!! इस पर्वत को प्रमुख बनती हैं दो झीलें, मानसरोवर झील जिसका आकार सूर्य की तरह गोल है और यह दुनिया के सबसे ऊंचे स्थान पर पाई जाने वाली मीठे पानी की झील है इसके अलावा राक्षस तल झील जिसका आकार अर्धचन्द्र की तरह है और इसका जल खारा है यह भी विश्व के सबसे ऊंचे स्थान पर पाई जाने वाली खारे पानी की एकमात्र झील है। 
  6.  इन झीलों के विषय में वैज्ञानिक तथ्य ये भी हैं की इन झीलों को पर्वतों की तलहट्टी पर बनी थोड़ी सी भूमि विभाजित करती है और मानसरोवर झील का पानी बिलकुल शांत रहता है लेकिन राक्षस झील का पानी थोड़ी थोड़ी देर के बाद छलकता रहता है जोकि पॉजिटिव और नेगेटिव एनर्जी को दर्शाता है।
  7. 320 किलोमीटर के दायरे में फैली यह मानसरोवर झील 80 फुट गहरी है और ऐसा मन जाता है की ब्रह्म मुहूर्त में देवतागण यहाँ स्नान करने आतें हैं। जबकि राक्षस तल 15 किलोमीटर क्षेत्र में फैली हुई है और 150 फुट गहरी है
  8. वैज्ञानिक मानतें हैं कि कैलाश पर्वत क्षेत्र में आपकी उम्र तेज़ी से बीतने लगती है। यहाँ अगर आप 12 घंटे ही बितातें हैं तो आपके बाल और नाख़ून की growth बढ़ जाती है जिसका मतलब यह है कि 12 घंटे में आपकी body में हुए changes आपके मूल स्थान पर 15 दिन में हुए changes के समान हैं अर्थात जितने बाल और नाखून 15 दिन में बढ़ने थे उतने 12 घंटे में बढ़ जातें हैं अगर आप कैलाश पर्वत के इर्द गिर्द हैं ।
  9. England के stonehenge माउंटेन से यह 6666 किलोमीटर की दूरी पर है और बिल्कुल यही दूरी North pole (उत्तरी ध्रुव) से है  दक्षिणी ध्रुव से यह दूरी 6666 की दुगुनी है यानि 13332 किलोमीटर है अब यह केवल एक संयोग तो नहीं हो सकता 🙂 ऐसी ही मान्यता भारत में भगवान शिव के ज्योर्तिर्लिंगो के विषय में भी है कि वे सब एक दुसरे से समान दूरी पर है। 
  10. वैज्ञानिक मानतें हैं कि कैलाश पर्वत रेडियो एक्टिव और परमाणु ऊर्जा से भरा एक क्षेत्र है सन 1926 में एक रशियन दर्शनशास्त्री और Nobel peace prize nominee “Nicholas Roerich” ने पाया कि  एक सूर्य के प्रकाश वाली कोई चीज़ आकाश की तरफ उड़ी जिसकी दिशा लगातार बदल रही थी और यह बाद में आकाश में गायब हो गयी।  वहां से UFO’s के उड़ान भरने की खबर की पुष्टि की गयी। Nicholas Rowrich के विषय में यहाँ पढें

दोस्तों!! आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी कमेंट बॉक्स में जरुर बताएं, और आप भी कुछ नया जानतें हैं तो कृपया हमें hellonewsfellow@gmail.com पर Email करें।

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*